Amoled Screen Problem क्यूँ होता हैं और इसे कैसे रोके??

 Amoled डिस्प्ले प्रॉब्लम 

आज मैं आपलोगों को इस ब्लॉग में बताने वाला हूं Amoled और Oled डिस्प्ले में होने वाले परेशानी के कारण के बारे में, Amoled डिस्प्ले सभी को पसंद आता है लेकिन कभी कभी यही डिस्प्ले सर दर्द का कारण भी बन जाता है, क्युकी बहुत सारे लोगों को Amoled डिस्प्ले में परेशानी होता है और जब वो उस Display को चेंज करने जाते है तब उनको अच्छा खासा पैसा देके ठीक करवाना पढ़ता है


Amoled display problem, pink color Display problem, green line Display problem

 

Green और Pink Line Problem 

आजके समय में बहुत सारा एक कॉमन प्रॉब्लम देखा जा रहा है जो है कि डिस्प्ले में ग्रीन और पिंक लाइन आने लगता है, शुरूवात में तो ये लाइन काफी नॉर्मल रहता है लेकिन धीरे-धीरे यही लाइन बढ़ते रहता है और डिस्प्ले इस्तेमाल करने जैसा नहीं रहता है ।

ज्यादातर ये प्रॉब्लम फोन को अपडेट करने के बाद होता है, बहुत सारे लोगों का एक शिकायत रहता है कि उनका फोन कभी गिरा नहीं कभी टोकर नहीं खाया फिर भी डिस्प्ले में ऐसा क्यूँ प्रॉब्लम होने लगा, और जब कस्टमर फोन को लेके सर्विस सेंटर जाते है तब उनसे पैसा चार्ज किया जाता है जिसे देख के कस्टमर बहुत ज़्यादा गुस्सा होने लगते हैं 

Green और Pink color का लाइन अगर डिस्प्ले में आता है तो फोन को तुरंत रिस्टार्ट कर लेना चाहिए, बहुत सारे लोग ऐसा दावा कर रहे है कि ऐसा करने से डिस्प्ले का प्रॉब्लम solve हो जाता है 

Pink Color Display Problem 

Green और Pink Line के बाद अगर कोई प्रॉब्लम सबसे ज़्यादा है तो वो है Pink Color का स्पॉट आ जाना, ये भी प्रॉब्लम ज़्यादा उन्हीं फोन में होता है जिसमें Amoled डिस्प्ले रहता है और लोग कहते है की अपडेट करने के बाद फोन में पिंक कलर स्पॉट आने लगता है 

और वही पिंक कलर स्पॉट धीरे-धीरे पूरे डिस्प्ले को कवर कर लेता है जिससे अखिर में डिस्प्ले को चेंज करना ही पड़ता है, और जब कस्टमर डिस्प्ले चेंज करने के लिए सर्विस सेंटर जाते है तो उनको वहां अच्छा खासा पैसा देके ठीक करवाना पढ़ता है ।

Amoled Display में ही क्यूँ होता है??

अब बहुत सारे लोगों का एक सवाल होगा कि अखिर Amoled डिस्प्ले मेँ ही इतने प्रॉब्लम क्यूँ होता है, तो मैं आपको बताना चाहूँगा कि Amoled डिस्प्ले में आपको बेह्तरीन Color प्रोपर Black Saturation, Contrast काफी ज्यादा बेहतर दिखाई देता है ।

और जब कोई वीडियो देखा जाता है तब उसे देखने में और जायदा मजा आता है Amoled डिस्प्ले में कंपनियां Amoled display का लिक्विड रहता है और कभी कभी यही लिक्विड फोन गिरने से और कभी कभी सॉफ्टवेयर अपडेट करने से बाहर आना शुरू कर देता है 

जिसके कारण पूरा डिस्प्ले या तो Pink और Green कलर का लाइन से भार जाता है या डिस्प्ले में आपको Pink Color का स्पॉट आना शुरू हो जाता है 

Amoled डिस्प्ले महंगा आता है और जब किसी का फोन में ऐसा हो जाता है तो उसे चेंज करने में भी अच्छा खासा पैसा लग जाता है, पहले ज़्यादा ये प्रॉब्लम सिर्फ सैमसंग के फोन में देखने को मिलता था लेकिन आज के समय में सभी फोन में ये प्रॉब्लम आने लगा है जिससे कस्टमर कुछ कस्टमर IPS डिस्प्ले लेना चाहते है ।

सभी को Amoled डिस्प्ले पसंद तो आता है लेकिन प्रॉब्लम को देख के और Repairing खर्च को देख के बहुर सारे लोग Amoled display वाले फोन नहीं लेना चाहते है 

उपाय ( Solution )

अगर बात किया जाए कि इसे कैसे ठीक कर सकते हैं तो पहली बात, अगर आपके फोन के पूरे डिस्प्ले में ये प्रॉब्लम आ गया है तब तो आपको डिस्प्ले चेंज करना होगा, और दूसरा उपाय है जब भी फोन में कोई बड़ा अपडेट आए तो किसी दूसरे फोन से Video रिकॉर्डिंग करना शुरू कर दीं उसके बाद फोन को अपडेट में लगाएं ।

ऐसा करने से अगर अपडेट के बाद फोन में कुछ Pink Pink Green लाइन आने लगे तो आपके पास प्रूफ रहेगा और आप सर्विस सेंटर में जाके दिखा सकते हैं कि फोन में प्रॉब्लम अपडेट से होता है ।

IPS Display Vs Amoled Display 

अब बात करते है कि कौनसा डिस्प्ले बेहतर है, इसमें कोई शक नहीं कि Amoled डिस्प्ले मेँ Colors देखने में ज्यादातर अच्छा लगता है वही IPS डिस्प्ले में आपको फीकापन मेहसूस होगा, इसलिए ज्यादातर लोग Amoled डिस्प्ले लेते है ।

IPS डिस्प्ले में आपकों In-Display Fingerprint स्कैनर नहीं मिलता है और आपको Repairing कॉस्ट काम लगता है IPS डिस्प्ले में, जबकि Amoled डिस्प्ले मेँ आपकों In-Display Fingerprint स्कैनर मिलता है लेकिन इसमें आपको Repairing कॉस्ट ज़्यादा लग जाता है 

दोनों ही डिस्प्ले के अपने फायदे और अपने नुकसान है लेकिन आजकल बीस हजार के ऊपर ज्यादातर फोन में Amoled डिस्प्ले मिलता है क्युकी Video और Content देखने में ज़्यादा मजा आता है Amoled डिस्प्ले मेँ ।

Post a Comment

0 Comments